About / परिचय

हिंदी कविताओं, कहानियों एवं उपन्यासों में विशेष रूचि रखने वाले विवेक तड़ियाल मातृभाषा हिंदी के साहित्य मंच के नवोदित कवि एवं रचनाकार हैं। वह देवों की भूमि ऋषिकेश (उत्तराखंड) के निवासी हैं। उत्तराखंड तकनीकी विश्वविद्यालय से उपकरण अभियांत्रिकी में स्वर्ण पदक प्राप्त विवेक तड़ियाल एनर्जी एफिशिएंसी सर्विसेज लिमिटेड (ऊर्जा मंत्रालय के सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों का एक संयुक्त उद्यम, भारत सरकार) में तकनीकी अभियंता के पद पर कार्यरत हैं। प्रारंभिक शिक्षा केंद्रीय विद्यालय ऋषिकेश व रायवाला से पूरी करने के पश्चात उन्होंने देहरादून प्रौद्योगिकी संस्थान से अभियांत्रिकी की पढाई पूरी की। हिंदी भाषा के प्रति विशेष लगाव एवं संवेदनशीलता का कारण वह अपने माता-पिता शिक्षकों, अग्रजों एवं मित्रों को मानते हैं जिन्होंने उनके अंदर के रचनाकार को पहचानने में उनका साथ दिया। विवेक तड़ियाल का मत है कि साहित्य समाज की संपत्ति है एवं रचनाकारों की कलम से निकलने वाली रचनाएँ समाज की आवश्यकता हैं। आज के समय में जहाँ हिंदी भाषा के प्रयोग को लेकर चिन्ताएँ व्यक्त की जा रही हैं वहीं विवेक तड़ियाल जैसे रचनाकार एक नए युग का उदय माने जा सकते हैं।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •   
  •  
  •  
  •  
  •